UP के पूर्व मुख्यमंत्रियों को 15 दिन में खाली करना होगा सरकारी बंगला, नोटिस जारी

Updated: May 18, 2018May 18, 2018उत्तर प्रदेश के राज्य संपत्ति विभाग ने सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का पालन करते हुए पूर्व मुख्यमंत्रियों को नोटिस जारी कर 15 दिन के भीतर सरकारी बंगले खाली करने का नोटिस जारी क्र दिया है जिसके बाद खलबली मच गई है। राज्य संपत्ति विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “नोटिस जारी किए जा रहे हैं। कल सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों को ये पहुंच जाएंगे।” इस समय 6 पूर्व मुख्यमंत्रियों नारायण दत्त तिवारी, मुलायम सिंह यादव, कल्याण सिंह, मायावती, राजनाथ सिंह और अखिलेश यादव के पास सरकारी बंगले हैं जो वीवीआईपी जोन में पड़ते हैं।इन्हें इन बंगलों में जीवनभर रहने का अधिकार मिला हुआ था। कल्याण सिंह इस समय राजस्थान के राज्यपाल हैं, जबकि राजनाथ सिंह केंद्रीय गृहमंत्री हैं। राज्य संपत्ति विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “नोटिस जारी किए जा रहे हैं। कल सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों को ये पहुंच जाएंगे।” सुप्रीम कोर्ट ने इस महीने की शुरुआत में अपने आदेश में कहा था कि अपने पद से हटने के बाद पूर्व मुख्यमंत्रियों को सरकारी बंगला दिया जाना ठीक नहीं है और वो सरकारी बंगले में नहीं रह सकते इसलिए इनसे बंगले खाली करवाए जाएं।कोर्ट ने ये भी कहा कि अगर किसी मुख्यमंत्री का कार्यकाल खत्म होता है तो वह आम आदमी की तरह है। सुप्रीम कोर्ट ने लोक प्रहरी नाम के एनजीओ की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान ये फैसला सुनाया था। इस बीच समाजवादी पार्टी के संरक्षक और सांसद मुलायम सिंह यादव ने बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। माना जा रहा है कि मुलायम ने योगी से अपने बंगले से जुडे़ मुद्दे पर चर्चा की।मुलायम और सीएम के बीच चर्चा के दौरान यह भी कहा गया कि अगर मुलायम और अखिलेश के सरकारी बंगले विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी और विधानपरिषद में नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन के नाम कर दिए जाएं तो आवास बच सकते हैं। यह भी चर्चा हुई कि कल्याण सिंह का आवास उनके पोते और राज्यमंत्री संदीप सिंह को आवंटित कर दिया जाए।अधिक जानकारियों के लिए यहां क्लिक करें। ..

(साभार :  संवाददाता  / एजेन्सी / अन्य न्यूज़ पोर्टल )

ताजा खबरों के अपडेट लगातार पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें| आप हमें ट्वीटर पर भी फॉलो कर सकते हैं|

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

गंगा की सफाई पर निपटारा रिपोर्ट दाखिल करे उत्तराखंड सरकार – NGT

...

loading...