मध्य प्रदेश

शहडोल बनाई जाए ‘मिनी स्मार्ट सिटी’- नागरिक पत्रकार मंच के संयोजक वरिष्ठ पत्रकार श्री करूणेश चंद्र पाण्डेय ने शहडोल शहर को ‘मिनी स्मार्ट सिटी योजना’ मे शामिल करने की माँग म.प्र. शासन से की है। उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार की ‘स्मार्ट सिटी योजना’ की तर्ज पर म.प्र. सरकार ने भी अपनी ‘मिनी स्मार्ट सिटी योजना’ की शुरुआत की है,जिसके तहत प्रदेश के 12 छोटे शहरों को मिनी स्मार्ट सिटी के तौर पर विकसित करने का निर्णय म.प्र. कैबिनेट की इसी माह संपन्न हुई बैठक मे लिया गया है।जिसके तहत इस योजना मे शामिल शहरों मे आधुनिक आधारभूत ढाँचा विकसित करने के लिए प्रत्येक शहर मे करीब 100 करोड़ की राशि म.प्र. सरकार द्वारा आगामी 3-4 वर्षों मे खर्च की जाएगी। इस योजना के लिए अमरकंटक सहित 5 शहरों-कस्बों का चयन पूर्व मे ही किया जा चुका है एवं 6वे शहर के तौर पर गुना शहर को शामिल करने की घोषणा मुख्यमंत्री जी द्वारा गत 26 जनवरी को की गई है। 6 शहरों का चयन किया जाना शेष है। स्थानीय जनप्रतिनिधि विशेषकर सांसद महोदय अगर प्रयास करे तो शहडोल शहर को इस योजना मे शामिल कराकर संभाग को एक बड़ी सौगात दिलाई जा सकती है।

शहडोल बनाई जाए ‘मिनी स्मार्ट सिटी’- नागरिक पत्रकार मंच के संयोजक वरिष्ठ पत्रकार श्री करूणेश चंद्र पाण्डेय ने शहडोल शहर को ‘मिनी स्मार्ट सिटी योजना’ मे शामिल करने की माँग म.प्र. शासन से की है। उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार की ‘स्मार्ट सिटी योजना’ की तर्ज पर म.प्र. सरकार ने भी अपनी ‘मिनी स्मार्ट सिटी योजना’ की शुरुआत की है,जिसके ...

Read More »

।एक सोच राष्ट्रीय जन पार्टी कीकिसानों को अब खेती करना बंद कर देना चाहिए* और केवल अपने परिवार के लायक उपजा कर बाकी ज़मीन को पड़त छोड़ देना चाहिए। जो लोग अपने बच्चों को डेढ़ लाख की मोटर साइकल, लाख का मोबाइल लेकर देने में एक बार भी नहीं कहते कि महँगा है, वे लोग किसानों की माँग पर बहस कर रहे है कि दूध और गेहूँ महँगा हो जाएगा। माॅल्स में जाकर अंधाधुंध पैसा उजाड़ने वाले गेंहूँ की कीमत बढ़ जाने से डर रहे हैं।

।एक सोच राष्ट्रीय जन पार्टी कीकिसानों को अब खेती करना बंद कर देना चाहिए* और केवल अपने परिवार के लायक उपजा कर बाकी ज़मीन को पड़त छोड़ देना चाहिए। जो लोग अपने बच्चों को डेढ़ लाख की मोटर साइकल, लाख का मोबाइल लेकर देने में एक बार भी नहीं कहते कि महँगा है, वे लोग किसानों की माँग पर बहस ...

Read More »

महात्मा गांधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय का 6 वां दीक्षांत समारोह सम्पन्न* *चित्रकूट* महात्मा गॉधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय का 6वां दींक्षात समारोह सोमवार को विश्वविद्यालय परिसर में भव्य एवं गरिमामय रूप से आयोजित किया गया। दींक्षात समारोह की अध्यक्षता करते हुये म.प्र. के राज्यपाल व कुलाधिपति ओमप्रकाश कोहली ने दींक्षात समारोह में वर्ष 2014 सें 2017 तक के उत्तीर्ण नियमित और दूरवर्ती माध्यमो के विद्यार्थियो को उपाधियां तथा मेडल प्रदान किये। इस अवसर पर प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया, संघ लोक सेवा आयोग के सदस्य प्रो. प्रदीप कुमार जोशी, कुलपति नरेशचन्द्र गौतम, डी.आर.आई. के प्रधान सचिव अतुल जैन, संगठन सचिव अभय महाजन भी उपस्थित थे।     ग्रामोदय विश्वविद्यालय के 6 वें दींक्षात समारोह मे अध्यक्षता करते हुये राज्यपाल श्री कोहली ने कहा कि विश्वविद्यालय को अपनी सम्पूर्ण ऊर्जा का विनियोग ग्रामीण विकास और ग्रामो के उत्थान के लिये करना चाहिये। चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय भारत का प्रथम ग्रामीण विश्वविद्यालय है जो विश्वविद्यालय के समूह में अपनी अलग पहचान रखता है। इसका उद्देश्य ग्रामीण भारत को शिक्षा, शोध एवं प्रसार कार्यो से प्रगति और विकास की ओर अग्रसर करना है। उन्होने कहा कि इस विश्वविद्यालय को परम्परागत विश्वविद्यालय से हटकर समाज परिवर्तन के लिये कार्य करना चाहिये। ग्रामोदय में ग्राम को विकास के केन्द्र मे रखकर विकास की कल्पना की जानी चाहिये। विकास के दौर मे यदि नीचे की सीढी के व्यक्ति का जीवन नही बदलता तो विकास के कोई मायने नही है। राज्यपाल ने कहा कि परम्परा और आधुनिकता दो अलग-अलग शब्द है। आधुनिक बनने के प्रयास में परम्परा से दूर हटकर उसका विरोध नही करना चाहिये बल्कि परम्परा को युगानूरूप बनाना ही आधुनिकता है।     समारोह में राज्य शासन के उच्च शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया ने कहा कि युगो के बाद परम्पराए बदलती है लेकिन संस्कृति कभी नही बदलती। सभ्यताए बदलती है लेकिन जीवन के मूल्य नही बदलतें। उच्च शिक्षा मंत्री ने दींक्षात समारोह में भारतीय वेशभूषा और अनुशासन का वातावरण देखकर विश्वविद्यालय को साधुवाद ज्ञापित किया। संघ लोक सेवा आयोग के सदस्य प्रो. प्रदीप जोशी ने कहा कि 12 फरवरी 1991 को शिवरात्रि के दिन इस ग्रामीण विश्वविद्यालय की स्थापना की आधारशिला राष्ट्रऋषि नानाजी देशमुख द्वारा रखी गई थी। यह विश्वविद्यालय ग्राम में विकास और स्वावलम्बन के सपने को पूरा कर रहा है। चित्रकूट भारतीय संस्कृति का आधार है। कृषि और ऋषि भारतीय संस्कृति के केन्द्र बिन्दु रहे है। ग्रामोदय विश्वविद्यालय सम्पूर्ण शैक्षणिक आध्यात्मिक ग्रामीण विकास एवं कृषि से संबंधित विभिन्न शिक्षा शोध प्रसार को जन-जन तक तक पहुंचाने गॉव-गॉव मे कार्यक्रम निर्धारित कर ग्रामीण विश्वविद्यालय के उद्देश्यो को सार्थक साबित कर रहा है।     दींक्षात समारोह में स्वागत भाषण में कुलपति प्रो. एन.सी.गौतम ने कहा कि दींक्षात समारोह विश्वविद्यालय परिवार के लिये उत्सव का दिन है। विद्यार्थी और शोधार्थी अपनी उपाधियां और स्वर्ण पदक प्राप्त कर रहे है। वह उनके सतत् और सार्थक परिश्रम का जीवंत प्रतिफल है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि वह इस शिक्षा का उपयोग समाजहित मे करते हुये ग्रामोदय की शिक्षा से जीवन को सार्थक बनायेगें। समारोह में वर्ष 2014 से 2017 तक स्नातक परास्नातक एवं पी.एच.डी. धारक छात्र-छात्राओ को कुल 3805 विद्यार्थियो को उपाधियां प्रदान की गई। इस अवसर पर कुल 172 छात्र-छात्राओ को गोल्ड मैडल एवं प्रवीण्यता प्रमाण पत्र प्रदान किये गये। कार्यक्रम के प्रारंभ मे कुलाधिपति एवं राज्यपाल ओ.पी.कोहली के नेतृत्व में विश्वविद्यालय परिसर मे विद्वत शोभा यात्रा भी निकाली गई।

*महात्मा गांधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय का 6 वां दीक्षांत समारोह सम्पन्न* *चित्रकूट* महात्मा गॉधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय का 6वां दींक्षात समारोह सोमवार को विश्वविद्यालय परिसर में भव्य एवं गरिमामय रूप से आयोजित किया गया। दींक्षात समारोह की अध्यक्षता करते हुये म.प्र. के राज्यपाल व कुलाधिपति ओमप्रकाश कोहली ने दींक्षात समारोह में वर्ष 2014 सें 2017 तक के उत्तीर्ण नियमित और ...

Read More »

​चित्रकूट का चुनाव अब मतदान के साथ ही निपट गया और नेताओं की दामर

चित्रकूट का चुनाव अब मतदान के साथ ही निपट गया और पंद्रह दिनों से चल रही नेताओं की दामर भी ख़त्म हो गईकांटे का चुनाव था ! एक तरफ भाजपा नेता मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ भारतीय जनता पार्टी के  विनय सहस्राबुदधे , नंद किशोर चौहान ,अभिलाष पांडेय ,लता एलकर ,फगगन सिंह कुलसते, संपतिया उइके ,सुहाष भगत ,केदारनाथ शुक्ल ...

Read More »

सोशल साइट्स पर क्राइम ब्रांच करेगी ई-पेट्रोलिंग

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। गली-मोहल्लों में डंडे फटकारते गश्त करने वाली पुलिस अब सोशल साइट्स पर भी पेट्रोलिंग करते नजर आएगी। पुलिस उन लोगों पर निगाह रखेगी जो अवैध हथियारों की खरीद-फरोख्त और मादक पदार्थों की तस्करी में लिप्त है। पुलिस ने ऐसे अपराधियों के फेसबुक, इंस्टाग्राम व ट्विटर अकाउंट्स का डेटा भी जुटा लिया है। इसमें कई सफेदपोश बदमाश भी शामिल ...

Read More »

अमेरिका के लिए 9/11 और हमारे लिए 8/11 महत्वपूर्ण

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। नोटबंदी का दिन 8/11 हमारे लिए महत्वपूर्ण है और 9/11 अमेरिका के लिए। भाजपा के महासचिव और विधायक कैलाश विजयवर्गीय ने नोटबंदी के फायदे गिनाने के लिए आयोजित जनसभा में यह बात कही। तारीखों में तुलना के बाद उन्होंने साफ किया कि अमेरिका ने उस दिन आतंकवाद खत्म करने का संकल्प लिया था और भारत ने भ्रष्टाचार का। ...

Read More »

घर में चूहें हो तो दीपक सावधानी से लगाना, कहीं ऐसा हादसा न हो जाए

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। साउथ तुकोगंज स्थित विशाल एवेन्यू के फ्लैट नंबर 105 में गुरुवार शाम आग लग गई। घटना के वक्त घर में बुजुर्ग मां थी। बाकी परिजन बाहर गए थे। घटना में सोफा, फ्रिज, कूलर, दस्तावेज आदि खाक हो गए। फायर ब्रिगेड पहुंचने तक इमारत के रहवासियों ने आग बुझा दी थी। घटना अभिभाषक संजय जैन के फ्लैट में हुई। ...

Read More »

अनाज कारोबारी की हत्या में परिवार को साजिश का शक

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। छावनी के अनाज कारोबारी अनिल जैन की हत्या के आरोपियों से सनावद पुलिस पूछताछ कर रही है। आरोपी 26 हजार रुपए के लेनदेन में ही हत्या करना कबूल रहे हैं जबकि परिजन का आरोप है कि हत्या के पीछे गहरी साजिश है। गुरुवार को परिजन डीआईजी ऑफिस पहुंचे और इंदौर पुलिस से जांच कराने की मांग की। पुलिस ...

Read More »

एयरपोर्ट पर नौकरी पाने से वो खुश थी, लेकिन सच कुछ और था

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। देवी अहिल्या होलकर विमानतल पर नौकरी दिलाने का झांसा देकर छात्रा को ठगने का मामला सामने आया है। पुलिस एक महिला सहित उसके तीन साथियों की तलाश कर रही है। आरोपी महिला ने खुद को निजी एयरलाइंस कंपनी का अधिकारी बताया और छात्रा से 34 हजार रुपए ऐंठ लिए। आरोपियों ने छात्रा को फर्जी नियुक्ति पत्र दिया था ...

Read More »

इंदौर ने दुनिया को सिखाई ऑर्गेनिक खेती, अब इसे इंटरनेशनल ऑर्गेनिक सेंटर बनाने की जरूरत

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। इंदौर के किसानों ने दुनिया को ऑर्गेनिक खेती सिखाई है। 1923 से 1931 तक वैज्ञानिक अलबर्ट हावर्ड ने इंदौर में किसानों से ऑर्गेनिक खेती करना सीखा। एग्रीकल्चर कॉलेज में उन्होंने रिसर्च किए। इसे इंग्लैंड सहित अन्य देश के किसानों को बताया। इंदौर के नाम जैविक खेती कि वसीयत भी लिखी। एक बुक लिखी जिसे इंदौर कंपोज का नाम ...

Read More »