तीन दिन की यात्रा पर भारत आएंगे ईरान के राष्ट्रपति

तीन दिन की यात्रा पर भारत आएंगे ईरान के राष्ट्रपति

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी गुरुवार से भारत की तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर आने वाले हैं. रूहानी की यात्रा के दौरान भारत और ईरान ‘आपसी हित’ के क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा करेंगे.ईरान के राष्ट्रपति की यात्रा की घोषणा करते हुए विदेश मंत्रालय ने कहा कि रूहानी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्विपक्षीय संबंधों में हासिल की गई प्रगति की समीक्षा करेंगे.हैदराबाद में आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि रूहानी कल बेगमपेट हवाई अड्डे पर पहुंचेंगे और बाद में मुस्लिम बुद्धिजीवियों, विद्वानों एवं धर्मगुरूओं को संबोधित करेंगे.अगस्त 2013 में ईरान के राष्ट्रपति का पदभार संभालने के बाद यह रूहानी की पहली भारत यात्रा होगी.मंत्रालय ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘ईरान के राष्ट्रपति की आगामी यात्रा के दौरान दोनों पक्ष द्विपक्षीय संबंधों की प्रगति की समीक्षा करेंगे और आपसी हित के क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान भी करेंगे.’ नयी दिल्ली में महत्वपूर्ण द्विपक्षीय एवं क्षेत्रीय मुद्दों पर मोदी एवं अन्य भारतीय नेताओं से गहन वार्ता के अलावा ईरानी नेता शनिवार को ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन (ओआरएफ) में एक विशेष व्याख्यान देंगे.रूहानी की यात्रा से पहले ईरानी मीडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, मुलाकातों के दौरान रूहानी और भारतीय नेता नवीनतम क्षेत्रीय एवं वैश्विक घटनाक्रम और चाबहार पोर्ट को जल्द से जल्द अंतिम रूप दिए जाने पर चर्चा करेंगे.साल 2016 में मोदी की ईरान यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच कई समझौतों पर दस्तखत किए गए थे. सूत्रों के मुताबिक, रूहानी 16 फरवरी को नई दिल्ली रवाना होंगे.उन्होंने बताया कि रूहानी हैदराबाद की मक्का मस्जिद में जुमे की नमाज अदा करने के बाद वहां एक सभा को संबोधित करेंगे. वह गोलकोंडा के कुतुब शाही मकबरे सहित कई ऐतिहासिक स्थलों की सैर करेंगे.

..

(साभार :  संवाददाता  / एजेन्सी / अन्य न्यूज़ पोर्टल )

ताजा खबरों के अपडेट लगातार पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें| आप हमें ट्वीटर पर भी फॉलो कर सकते हैं|

About Digital Team Charcha Aaj Ki

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

मर्केल ने शरणार्थियों के मुद्दे पर किया एकजुटता का आह्वान

बर्लिन। जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने यूरोपियन यूनियन (ईयू) के देशों के बीच शरणार्थियों की संख्या के और अधिक समान पुनर्वितरण का आह्वान किया है। पाकिस्तान के आतंकरोधी कदमों से संतुष्ट नहीं ‘अमेरिका’ एंजेला मर्केल